शनिवार, 4 नवंबर 2017

hindi ke naye chhand 21

हिन्दी के  नए छंद २१  
*
प्रस्तुत छंद के समान मात्रिक-वर्णिक पदभार गति-यति युक्त छंद यदि आपने पढ़े हों तो कृपया, उनका सन्दर्भ, विधान व उदाहरण salil.sanjiv@gmail.com पर भेजें। 
नव रचनाकार इन छंदों का अभ्यास करें। 
कभी तो बुलाते, सुनाते-लुभाते, गले से लगाते हमें नेता। 
ने वादे निभाते, धता क्यों बताते?, लुकाते-छिपाते, ठगें नेता।।
चुनावी अदाएँ, न भूलें-भुलाऍ, सदा झूठ बोलें, छली नेता।
न कानून जाने, नहीं सत्य माने, नहीं काम आते बली नेता।।  
***
salil.sanjiv@gmail.com, ७९९९५५५९६१८
www.divyanarmada.in, #हिंदी_ब्लॉगर 

कोई टिप्पणी नहीं: