शनिवार, 4 नवंबर 2017

naye chhand 22

हिन्दी के  नए छंद २२ 
*
प्रस्तुत छंद के समान मात्रिक-वर्णिक पदभार गति-यति युक्त छंद यदि आपने पढ़े हों तो कृपया, उनका सन्दर्भ, विधान व उदाहरण salil.sanjiv@gmail.com पर भेजें। 
नव रचनाकार इन छंदों का अभ्यास करें। 
कहेगा कहानी जमाना जुबानी, करो काम ऐसा उठो वानर। 
नहीं तुच्छ हो रे!, महावीर हो अंजनी-वायु के पुत्र हो वानर।।
छलाँगें लगाओ, उड़ो वायु में भी, न हारो करो पार रे! सागर।
सिया खोज आओ, सभी को बचाओ, यशस्वी बनाओ रे! वानर।।  
***
salil.sanjiv@gmail.com, ७९९९५५५९६१८
www.divyanarmada.in, #हिंदी_ब्लॉगर

कोई टिप्पणी नहीं: