शनिवार, 9 दिसंबर 2017

दोहा दुनिया- शिव वंदन

शिव बंधन से मुक्त कर,
देते हैं चिर शान्ति.
शिवा शरण गह तो मिटे,
पल भर में हर भ्रान्ति.
.

कोई टिप्पणी नहीं: