शनिवार, 30 दिसंबर 2017

yaksha prashna 1

यक्ष प्रश्न १ 
*
कहते हैं 'जो ब्रम्ह को जानता है वही ब्राम्हण होता है.' 
ब्राम्हण सभाओं में कितने ब्राम्हण हैं? 
क्या वे अन्यों को ब्रम्ह का ज्ञान कर ब्राम्हण बनाने में समर्थ और इच्छुक हैं? 
यदि नहीं तो जन्मना जातिवाद की दुहाई देकर सनातन धर्मी समाज को विभाजित करना अनुचित नहीं है क्या?

***
आपके उत्तर की प्रतीक्षा है. 

कोई टिप्पणी नहीं: