रविवार, 31 दिसंबर 2017

haiku

हाइकु
*
हो नया हर्ष
हर नए दिन में
नया उत्कर्ष
.
प्राची के गाल
रवि करता लाल
है नया साल
.
हाइकु लिखो
हर दिवस् एक
इरादा नेक
.

कोई टिप्पणी नहीं: