बुधवार, 25 जुलाई 2018

दोहा

दोहा में हैं चार गुण, कथ्य भाव लय साथ। सत्य-सार दोहा कहे, ऊँचा रखकर माथ।।

कोई टिप्पणी नहीं: