शनिवार, 21 अक्तूबर 2017

hindi ke naye chhand 15 - vaamaangee chhand

हिन्दी के नये छंद- १५  
वामांगी छंद 
हिंदी के नए छंदों की श्रुंखला में अब तक आपने पढ़े- पाँच मात्रिक भवानी, राजीव, साधना, हिमालय, आचमन, ककहरा, तुहिणकण, अभियान, नर्मदा, सतपुडा छंद, शाद मात्रिक महावीर छंद । अब प्रस्तुत है षड्मात्रिक छंद वामांगी। 
विधान-
१. प्रति पंक्ति ६ मात्रा।
२. प्रति पंक्ति मात्रा क्रम गुरु गुरु गुरु। 
मुक्तिका 
जो आता 
है जाता 
नेता जी 
आए हैं। 
वादे भी 
लाए हैं। 
ख़्वाबों को 
बेचेंगे। 
कौओं सा 
गाएँगे। 
वोटों का 
है नाता
जो आता 
है जाता 
 
वादे हैं 
सच्चे क्या?
क्यों पूछा?
बच्चे क्या?
झूठे ही 
होता  है। 
लज्जा भी 
खोता हैं।
धोखा दे 
गर्वाता 
जो आता 
है जाता 
पाएगा 
खोएगा। 
झूठा ही 
रोएगा। 
कुर्सी पा 
गर्राता। 
सत्ता खो  
खो जाता। 
पार्टी को 
धो जाता। 
जो आता 
है जाता 
************************
salil.sanjiv@gmail.com
http://divyanarmada.blogspot.com
#hindi_blogger

कोई टिप्पणी नहीं: