सोमवार, 16 अक्तूबर 2017

doha

दोहा 
पहले खुद को परख लूँ, तब देखूँ अन्यत्र 
अपना खत खोला नहीं, पा औरों का पत्र
*
salil.sanjiv@gmail.com 
http://divyanarmada.blogspot.com
#hindi_blogger

कोई टिप्पणी नहीं: