कुल पेज दृश्य

बुधवार, 24 जून 2020

हाइकु

कुछ हाइकु
संजीव 'सलिल'
*
रात की बात
किसी को मिली जीत
किसी को मात..
*
फूल सा प्यारा
धरती पर तारा
राजदुलारा..
*
करेँ वंदन
लगाकर चन्दन
हँसे नंदन..
*
आता है याद
दूर जाते ही देश
यादें अशेष..
*
कुसुम-गंध
फैलती सब ओर.
देती आनंद..
*
देना या पाना
प्रभु की मर्जी
पा मुस्कुराना..
*
आंधी-तूफ़ान
देता है झकझोर
चले न जोर..
*
उखाड़े वृक्ष
पल में ही अनेक
आँधी है दक्ष..
*
बूँदें बरसें
सौधी गंध ले सँग
मन हरषे..
*
करे ऊधम
आँधी-तूफ़ान, लिए
हाथ में हाथ..
*
बादल छाये
सूरज खिसियाये
भू मुस्कुराये.
*
नापते नभ
आवारा की तरह
नाच बादल..
*
२४-६-२०१०

1 टिप्पणी:

Packers and Movers Kolkata ने कहा…

Nice post! This is a very nice blog that I will definitively come back to more times this year! Thanks for informative post.# @ Packers and Movers Kolkata