शुक्रवार, 2 नवंबर 2018

बैठक- समाचार


विश्व वाणी हिंदी संस्थान जबलपुर
समन्वय, ४०१ विजय अपार्टमेंट, नेपियर टाउन जबलपुर
कवि और कविता- राग तैलंग की काव्य सरिता
*
जबलपुर, १-११-२०१८। मध्य प्रदेश के स्थापना दिवस पर विश्ववाणी हिंदी संस्थान, अभियान संस्था तथा समन्वय प्रकाशन के तत्वावधान में ''कवि और कविता'' श्रृंखला के अंतर्गत भोपाल से पधारे प्रसिद्ध कवि राग तैलंग ने अपनी सशक्त रचनाओं का पाठ किया। सरस्वती पूजन से आरंभ सारस्वत गोष्ठी के आरंभ में राग तेलंग के रचना संसार पर संस्थान के संयोजक आचार्य संजीव वर्मा 'सलिल' ने प्रकाश डाला। अभियान के अध्यक्ष श्री बसंत शर्मा ने अतिथि स्वागत किया।
श्री राग तेलंग ने रचना पाठ करने के साथ, अपनी रचना प्रक्रिया का उल्लेख करते हुए श्रोताओं का शंका-समाधान किया। उपाध्यक्ष द्वय श्री जयप्रकाश श्रीवास्तव तथा श्री सुरेश तन्मय ने राग तेलंग की रचनाओं पर विमर्श करते हुए जमीन से जुड़ा बताया। सचिव श्रीमती मिथिलेश बडगैंया ने दैनंदिन जीवन के प्राय: अनदेखे रह जाने प्रसंगों को काव्य का विषय बनाकर सशक्त रचना करने की कला की सराहना की।
संगठन सचिव द्वय श्रीमती विनीता श्रीवास्तव व प्रो. शोभित वर्मा द्वारा हिंदी की रोजगारपरकता व तकनीकी विषयाभिव्यक्ति संबंधी जानकारी प्राप्त की गई। नवोदित दोहाकार श्री अविनाश ब्यौहार ने विधि जगत में हिंदी के बढ़ते प्रयोग का उल्लेख किया। संस्थान की ओर से आचार्य संजीव वर्मा 'सलिल' ने श्री राग तेलंग को साहित्य तथा तकनीकी लेखन उनकी असाधारण संबंधी सृजन सामर्थ्य हेतु ''सृजन पंडित'' सम्मानोपाधि, स्मृति चिन्ह तथा शांतिराज पुस्तक माला के अंतर्गत सद्य प्रकाशित दोहा शतक मंजूषा त्रयी दोहा-दोहा नर्मदा, दोहा सलिला निर्मला व दोहा दिव्य दिनेश भेंट की। पुस्तक-संस्कृति के प्रसार हेतु कदम उठाया गया। सभी सहभागियों के काव्य-पाठ पश्चात गोष्ठी का समापन हुआ।
***

कोई टिप्पणी नहीं: