सोमवार, 10 दिसंबर 2018

muktak

मुक्तक 
शब्दों का जादू हिंदी में अमित सृजन कर देखो तो। 
छन्दों की महिमा अनंत है इसको भी तुम लेखो तो।  
पढ़ो सीख लिख आत्मानंदित होकर सबको सुख बाँटो-
मानव जीवन कि सार्थकता 'सलिल' पुलक अवरेखो तो । 
*

कोई टिप्पणी नहीं: