सोमवार, 6 जुलाई 2015

kundalini

कुण्डलिनी:
संजीव 
*
हे माँ! हेमा है खबर, खाकर थोड़ी चोट 
बच्ची हुई दिवंगता, थी इलाज में खोट 
थी इलाज में खोट, यही अच्छे दिन आये
व्ही आई पी है खास, आम जन हुए पराये
कब तक नेताओं को, जनता करे क्यों क्षमा?
काश समझ लें दर्द, आम जन का कुछ हेमा
***

कोई टिप्पणी नहीं: