शनिवार, 9 फ़रवरी 2019

muktak

मुक्तक 
हमें ही है आना 
हमें ही है छाना 
बताता है नेता 
सताता है नेता 
*

कोई टिप्पणी नहीं: