मंगलवार, 23 अप्रैल 2019

षट्पदी बुक डे

एक षट्पदी 
*
'बुक डे' 
राह रोक कर हैं खड़े, 'बुक' ले पुलिस जवान 
वाहन रोकें 'बुक' करें, छोड़ें ले चालान 
छोड़ें ले चालान, कहें 'बुक' पूरी भरना
छूट न पाए एक, न नरमी तनिक बरतना
कारण पूछा- कहें, आज 'बुक डे' है भैया
अगर हो सके रोज, नचें कर ता-ता थैया
***

कोई टिप्पणी नहीं: