स्तम्भ menu

Drop Down MenusCSS Drop Down MenuPure CSS Dropdown Menu

सोमवार, 18 सितंबर 2017

doha salila

समस्या पूर्ति
'हिंदी की तस्वीर
'हिंदी की तस्वीर' शब्दों का उपयोग करते हुए पद्य की किसी भी विधा में रचना टिप्पणी के रूप में प्रस्तुत करें।
*
हिंदी की तस्वीर के, अनगिन उजले पक्ष
जो बोलें वह लिख-पढ़ें, आम लोग, कवि दक्ष
*
हिदी की तस्वीर में, भारत एकाकार
फूट डालती स्वार्थवश, अंग्रेजी आधार
*
हिंदी की तस्वीर में, सरस सार्थक छंद
जितने उतने हैं कहाँ, नित्य रचें कविवृंद
*
हिंदी की तस्वीर या, पूरा भारत देश
हर बोली मिलती गले, है आनंद अशेष
*
हिंदी की तस्वीर में, भरिए अभिनव रंग
उनकी बात न कीजिए, जो खुद ही बदरंग
*
हिंदी की तस्वीर पर अंग्रेजी का फ्रेम
नौकरशाही मढ़ रही, नहीं चाहती क्षेम
*
हिंदी की तस्वीर में, गाँव-शहर हैं एक
संस्कार-साहित्य मिल, मूल्य जी रहे नेक
*
हिंदी की तस्वीर में, मैं-तू हैं इक जान
हमको दोनों लुभाते, राम और रहमान
*
हिंदी की तस्वीर में, जुड़ें नित्य नव देश
'सलिल' निकट है वह समय, होगा एक न शेष
***
salil.sanjiv@gmail.com,९४२५१८३२४४
http://divyanarmada.blogspot.com
#हिंदी_ब्लॉगर

कोई टिप्पणी नहीं: