बुधवार, 9 जनवरी 2019

नवगीत २०१७

२०१७ में प्रकाशित होने वाले नवगीत संग्रह 
क्रमांक                   संग्रह का नाम                            रचनाकार                               प्रकाशक
   ०१.                 लौट आया मधुमास                        शशि पाधा                       अयन प्र. दिल्ली 
   ०२.                  हम खड़े एकांत में                         कुमार रवींद्र                     लोकोदय लखनऊ 
   ०३.                  मौन की झंकार                            संध्या सिंह                     अनुभव गाज़ियाबाद 
   ०४.                  धुएँ की टहनियाँ                         रामानुज त्रिपाठी                  शुभांजलि कानपूर 
   ०५.                    परों को तोल                               शीला पांडे                      उत्तरायण लखनऊ 
   ०६.                  सहमा हुआ घर                           मयंक श्रीवास्तव               पहले पहल भोपाल 
   ०७.            शब्द अपाहिज मौनी बाबा               शिवानंद सिंह सहयोगी               अयन दिल्ली 
   ०८.                  समय कठिन है                           राम चरण राम                       नमन दिल्ली 
   ०९.            फिर उठेगा शोर एक दिन                  शुभम श्रीवास्तव ॐ                  अयन दिल्ली 
   १०.           काँधों लदे तुमुल कोलाहल                    यतींद्र नाथ राही                      ऋचा भोपाल 
   ११.         आदमी उत्पाद की पैकिंग हुआ               डॉ. मनोहर अभय                     बोधि जयपुर 
   १२.                    भाव पंखी हंस                          ममता बाजपायी                   पहले पहल भोपाल 
   १३.             किसी उत्सव या मेले में                   डॉ. वेद प्रकाश अमिताभ            भारत अलीगढ 
   १४.                   बस्ती के भीतर                        अवध बिहारी श्रीवास्तव         अनुभव गाज़ियाबाद 
   १५.                कितनी आगे बढ़ी सदी                        डॉ. अनिल कुमार            उत्तरायण लखनऊ 
   १६.                  चिल्लर सरीखे दिन                          मालिनी गौतम                  बोधि जयपुर 
   १७.                    समय की दौड़ में                        बृजनाथ श्रीवास्तव               ज्ञानोदय कानपुर 
   १८.                 धूप लेकर मुट्ठियों में                      मनोज जैन 'मधुर'                पहले पहल भोपाल
   १९.                  अक्षर की आँखों से                       वेदप्रकाश शर्मा वेद               अनुभव गाज़ियाबाद 
   २०.                    दिन क्यों बीत गए                        धनञ्जय सिंह                  अनुभव गाजियाबाद 
   २१.               इस हवा को क्या हुआ                         रमेश गौतम                          अयन दिल्ली
   २२.                  मिले सवाल नए                           डॉ. क्षमाशंकर पांडेय           उत्कर्ष प्रकाशन मेरठ 
   २३.                 गीत अपने ही सुनें                           वीरेंद्र आस्तिक              के के पब्लिकेशन दिल्ली 
   २४.                  सयानी आहटें हैं                           बृजनाथ श्रीवास्तव               ज्ञानोदय कानपुर 
   २५.                  शेष रहे आलाप                                 गीता पंडित                     गीतिका दिल्ली 
   २६.                       तड़फन                                      बी. एल. राही                 उत्तरायण लखनऊ 
   २७.               हम तो जिए कबीर सरीखे                      कृष्ण शलभ             राजेश पुस्तक केंद्र दिल्ली ३ 
   २८.                 नदी कहना जानती है                      रामनारायण रमण             अनुभव गाज़ियाबाद 
   २९.                हैं जटायु से अपाहिज हम                    कृष्ण भारतीय                 अनुभव गाज़ियाबाद
   ३०.               रोटी का अनुलोम विलोम                  शिवानंद सिंह सहयोगी             अयन दिल्ली 
   ३१.                सूरज अभी डूबा नहीं                           डॉ. ॐ प्रकाश सिंह               नमन दिल्ली 
   ३२.               करो कुछ जेब भी हल्की                          पंकज परिमल              निहितार्थ गाज़ियाबाद 
   ३३.                      धूल भरे पाँव                                  गुलाब सिंह                   उत्तरायण लखनऊ 
   ३४.                     खाली हाथ कबीर                           मधुकर अष्ठाना                गुंजन मुरादाबाद 
=====================================================================






















कोई टिप्पणी नहीं: