मंगलवार, 27 जून 2017

मुक्तक

जो खुश रहता है
वह यह करता है
मर मर जीता है
जी जी मरता है

कोई टिप्पणी नहीं: