रविवार, 4 दिसंबर 2016

आपने वोट किया है अतः आप परिणाम जानने के अधिकारी हैं

आदरणीय दोस्तो
विवेक के अभिवादन
    आप जानते हैं कि  इंस्टीट्यूशन आफ इंजीनियर्स के काउंसिल मेम्बर के चुनाव में  मै मित्रो के आग्रह पर आप सब के सहयोग से इस उद्देश्य से खड़ा हुआ था कि एक नई उर्जा का संचार संस्था में किया जावे तथा समाज में इंजीनियर्स को प्रतिष्ठित महत्वपूर्ण स्थान मिले तथा इंस्टीट्यूशन की गतिविधियो को समाजोन्मुख बनाया जावे . मैने पूरे इलेक्शन के निर्धारित समय काल में बार बार आप सब से ई संपर्क किया , आपके प्रत्युत्तरो से लगा कि ज्यादातर सदस्य मेरे प्रस्ताव से सहमत हैं .
    दिनांक १७ नवम्बर २०१६  को मतो की गणना की गई , मैने तब से मेल व फोन से बार बार चुनाव परिणाम जानने के लिये कलकत्ता मुख्यालय मे संबंधितो से संपर्क किया किन्तु वेबसाइट व मोबाइल के इस समय में भी इंजीनियर्स की शीर्ष संस्था जिसने देश में सर्वप्रथम ई वोटिंग की प्रक्रिया अपनाई है , ने अब तक चुनाव परिणाम गुप्त रखे हैं यह आश्चर्यकारी है , व इंगित करता है कि चुनाव प्रक्रिया में संशोधन तथा पारदर्शिता की जरूरत है . मुझे अब तक इंस्टीट्यूशन से चुनाव परिणाम के संबंध में कोई सूचना नही दी गई है . अन्य जो उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे थे उनमें से किसी से ज्ञात हुआ कि मेरा नाम विजयी सदस्यो में शामिल नहीं है .
        मैं हृदय से उन दोस्तो का आभार व्यक्त करना चाहता हूं जिन्होने मुझ पर विश्वास व्यक्त किया .मैं प्रतिबद्धता व्यक्त करना चाहता हूं कि फैलो सदस्य के रूप में मैं संस्था  व इंजीनियर्स की प्रतिष्ठा हेतु निरंतर कार्य करता रहूंगा , आप से निवेदन है कि इस दिशा में निसंकोच मेरे संपर्क में रहें .
यदि उचित समझें तो hcsberry@rediffmail.com अध्यक्ष बोर्ड आफ स्क्रुटिनर को लेख करते हुये प्रतिलिपि मुझे व sdg@ieindia.in को चुनावो में पारदर्शिता व गणना के तुरंत बाद चुनाव परिणाम घोषित करने व इस बार के चुनाव परिणाम जानने हेतु मेल करने का कष्ट करें .
मित्रो आपने वोट किया है अतः आप परिणाम जानने के अधिकारी हैं , मै चुनाव में उम्मीदवार था अतः मुझे कितने वोट मिले यह जानना मेरा नैसर्गिक अधिकार है . हमारी संस्था क्यो हमारे इन सहज अधिकारो का हनन कर रही है यह संदिग्ध है .

विवेक रंजन श्रीवास्तव


कोई टिप्पणी नहीं: