मंगलवार, 22 नवंबर 2016

shubhkamna

जन्म दिन पर अनंत शुभ कामनाएं 
अप्रतिम तेवरीकार अभियंता दर्शन कुलश्रेष्ठ 'बेजार' को 
*
दर्शन हों बेज़ार के, कब मन है बेजार 
दो हजार के नोट पर, छापे यदि सरकार 
छापे यदि सरकार, देखिएगा तब तेवर
कवि धारेगे नोट मानकर स्वर्णिम जेवर
सुने तेवरी जो उसको ही नोट मिलेगा
और कहे जो वह कतार से 'सलिल' बचेगा
***

कोई टिप्पणी नहीं: