रविवार, 14 जुलाई 2019

शुभ प्रभात 
*
देश प्रथम, दल रहे बाद में 
शुभ प्रभात
आम प्रथम, हो खास बाद में
शुभ प्रभात 
दीनबंधु बन खुशी लुटाये
शुभ प्रभात
कुछ पौधों को वृक्ष बना दें
शुभ प्रभात

कोई टिप्पणी नहीं: