शनिवार, 27 जुलाई 2019

चौदह वर्णिक, अठारह मात्रिक छंद

छंद परिचय : १ 
चौदह वर्णिक 
अठारह मात्रिक छंद 
पहचानें इस छंद को, क्या लक्षण?, क्या नाम?
रच पायें तो रचें भी, मिले प्रशंसा-नाम..
*
नमन उषानाथ! मुँह मत मोड़ना.
ईश! कर अनाथ, कर मत छोड़ना.
साथ हो तुम यदि, यम सँग भी लड़ें.
कर-उठा लें नभ, जमा भू में जड़ें.
***
salil.sanjiv@gmail.com
#दिव्यनर्मदा
#हिंदी_ब्लॉगर

कोई टिप्पणी नहीं: