सोमवार, 22 जुलाई 2019

मनहरण घनाक्षरी छन्द

मनहरण घनाक्षरी छन्द
विधान: ८-८-८-७ वर्ण 
.
चीनियों को ठोंककर, पाकियों को पीटकर, 
फ़हरा तिरंगा आज, हम मुसकायेगे.
जन गण मन, वंदे मातरम गायेंगे.
सिक्किम भूटान नेपाल की न बात करो,
तिब्बत को भी फिर से, आजाद हम करायेंगे.
भारत से भाग किसी वक्त जो अलग हुए,
एक साथ जोड़ आर्यावर्त हम बनायेंगे.
*

कोई टिप्पणी नहीं: