कुल पेज दृश्य

रविवार, 24 अक्तूबर 2021

कायस्थ स्वतंत्रता सेनानी

कायस्थ स्वतंत्रता सेनानी
स्वतंत्रता सत्याग्रह में कायस्थों का योगदान
*
१. *स्व.गणेश प्रसाद श्रीवास्तव*

चित्र अप्राप्त

जन्म - १९११, जबलपुर।
आत्मज स्व. शंभु प्रसाद श्रीवास्तव।
शिक्षा - माध्यमिक।
वर्ष १९२३ से राजनैतिक गतिविधियाँ। १९३२ के आंदोलन में गिरफ्तार ६ माह कैद, २५/- अर्थदंड
नेशनल बॉय स्काउट संस्था के संस्थापक सदस्य। १९३३ तथा १९३५ में राष्ट्रीय स्काउट प्रदर्शनी का सफल आयोजन किया।
१९३९ में कांग्रेस अधिवेशन त्रिपुरी, जबलपुर में स्वयं सेवकों के प्लाटून कमांडर। सराहनीय प्रदर्शन कर प्रशंसा पाई।
महाकौशल युवक कांफ्रेंस को सफल बनाने हेतु अथक परिश्रम किया।
व्यक्तिगत सत्याग्रह १९४१ में ४ माह की सजा हुई।
'अंग्रेजों भारत छोड़ो' आंदोलन १९४२ में २ वर्ष तक नज़रबंद
सत्याग्रही साथियों के बीच 'लाला जी' संबोधन से लोकप्रिय।
स्वास्थ्य बिगड़ने के बावजूद स्वतंत्रता संबंधी गतिविधियों में अंतिम सांस तक सक्रिय रहे।
(स्वतंत्रता संग्राम और जबलपुर नगर, रामेश्वर प्रसाद गुरु, पृष्ठ ९५) 
*

टीप - निधन तिधि अज्ञात, चित्र अप्राप्त। परिवार जनों की जानकारी हो तो उपलब्ध कराइए।

कोई टिप्पणी नहीं: